ऑस्ट्रेलिया में भारतीयों और खालिस्तानी समर्थकों के बीच झड़प, वीडियो वायरल

0
45

ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में खालिस्तान समर्थकों ने तिरंगा लेकर चल रहे भारतीयों पर हमला कर दिया। घटना में 6 लोग घायल हुए हैं, जबकि पुलिस ने 10 लोगों को हिरासत में ले लिया है। मेलबर्न में पिछले 15 दिनों में 3 हिंदू मंदिरों पर भारत विरोधी और खालिस्तान समर्थक नारे लिखे जाने के बाद यह घटना चिंता को बढ़ाती है।

भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि खालिस्तान झंडा पकड़े हुए कई लोग तिरंगा पकड़े हुए भारतीयों पर हमला कर रहे हैं। खालिस्तानी समर्थकों के हाथ में लाठियां भी दिखाई दे रही हैं, जिनसे वे भारतीयों पर वार कर रहे हैं।

मेलबर्न के फेडरेशन स्क्वायर की घटना
भारत में प्रतिबंधित संगठन सिख्स फॉर जस्टिस (SFJ) ने मेलबर्न के फेडरेशन स्क्वायर पर कथित रेफरेंडम (जनमत संग्रह) का आयोजन किया था। यहां बड़ी संख्या में खालिस्तान समर्थक झंडे लेकर नारेबाजी कर रहे थे।

इसी दौरान 25-30 युवकों का एक दल भारत माता की जय और खालिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाता हुए फेडरेशन स्क्वायर की ओर बढ़ने लगा। ये युवक हाथों में भारतीय राष्ट्रध्वज तिरंगा लिए हुए थे। इन्हें देखकर खालिस्तान समर्थकों ने हमला बोल दिया। भारत विरोधी नारे लगाते हुए हमलावरों ने युवकों पर ने लाठियों से वार किए।

खालिस्तानी दे रहे नागरिकता दिलाने का झांसा
एक निजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक, अलगाववादी खालिस्तान समर्थक अपने मंसूबों को पूरा करने की खातिर नए दांव चल रहे हैं। खालिस्तानी प्रौपेगंडा को समर्थन करने की एवज में युवाओं को स्थायी नागरिकता का झांसा भी दिया जा रहा है। इस लालच में कुछ युवा उनसे जुड़ रहे हैं।

दरअसल, ऑस्ट्रेलिया में ओवर स्टे करने वालों की खासी संख्या है। ये लोग अपने हितों को साधने के लिए भारत विरोधी गतिविधियों से जुड़ रहे हैं। किसान आंदोलन के दौरान भी ऑस्ट्रेलिया में भारत विरोधी गतिविधियां हुई थीं। कनाडा और अमेरिका की तर्ज पर ऑस्ट्रेलिया में भी पिछले पांच साल के दौरान खालिस्तानी समर्थक हावी हुए हैं।

सूत्रों के अनुसार रविवार को मेलबर्न में हुई हिंसा में ओवर स्टे करने वाले अवैध प्रवासियों के भी शामिल होने की आशंका है। पुलिस को इस बारे में पूर्व में भी बताया गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here